बालाजी वेद विद्यालय, सिलवासा में आपका स्वागत है ।।

बालाजी वेद विद्यालय, वैदिक ऋषियों के द्वारा निर्मित, वैदिक सनातन धर्म के सभी सूत्रों को जीवित एवं प्रसारित करने के प्रयत्न में, स्वामी श्री धनञ्जय जी महाराज द्वारा (सिलवासा में) निर्मित एक स्वतन्त्र व्यवस्था है ।।

हमारे पूर्वज वैदिक ऋषियों द्वारा प्रदत्त इस वैदिक सनातन धर्म को अगर हम जीवित एवं संचालित रख पाए तो ये हमारे लिए गर्व का विषय होगा । मित्रों, हमारे वेद सम्पूर्ण रूप से केवल विज्ञान ही हैं । इसीलिए, वैदिक विज्ञान को अपने ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाना है और इस पुनीत कार्य में आपका सहयोग जरुरी एवं अपेक्षित है ।।

बालाजी वेद एवं ज्योतिष विद्यालय में बहुत से आचार्य बच्चों को वेद एवं ज्योतिष की शिक्षा देने के लिए स्वेक्षा से हमारे यहाँ आये हैं । हम सभी लोग मिलकर वैदिक ऋषियों द्वारा प्रदत्त हमारी इस विद्या को प्रसारित करने के लिए संकल्पित हैं ।।

आप सभी से विनम्र निवेदन है, कि अगर आपको किसी भी तरह के कर्मकाण्ड हेतु योग्य एवं संख्या में ब्राह्मण चाहिएं, तो आप हमें अवश्य संपर्क करें । क्योंकि आप हमें अपने घर के छोटे से छोटे एवं बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु बुलाकर हमारा सहयोग करेंगें, तो हमें वैदिक धर्म को प्रसारित करने का साहस मिलेगा ।।

वेद अथवा ज्योतिष की शिक्षा प्राप्त करने हेतु तथा अपनी जन्म कुण्डली बनवाने के लिए एवं अपनी जन्म कुण्डली पर विस्तृत फलादेश के लिए आप "बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा" से संपर्क करें ।।

संपर्क सूत्र:- +91- 8690522111
E-Mail:: balajivedvidyalaya@gmail.com

आप सभी के नित्य कल्याण के आकांक्षी -

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय - समस्त आचार्य ।।

।। नारायण नारायण ।।