आरती श्री अम्बे (दुर्गा) माता जी की ।।

आरती श्री अम्बे (दुर्गा) माता जी की ।।

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी ।।
तुमको निशि दिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी ।। १ ।।

मांग सिंदूर विराजत, टीको मृगमद को ।।
उज्ज्वल से दोउ नैना, चन्द्रवदन नीको ।। २ ।।

कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै ।।
रक्तपुष्प गल माला, कंठन पर साजै ।। ३ ।।

केहरि वाहन राजत, खडूग खप्पर धारी ।।
सुर - नर मुनिजन सेवत, तिनके दुखहारी ।। ४ ।।

कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती ।।
कोटिक चन्द्र दिवाकर, राजत सम ज्योति ।। ५ ।।

शुम्भ निशुम्भ विदारे, महिषासुर घाती ।।
धूम्र विलोचन नैना, निशदिन मदमाती ।। ६ ।।

चण्ड - मुण्ड संहारे, शौणित बीज हरे ।।
मधु - कैटभ दोउ मारे, सुर भय हीन करे ।। ७ ।।

ब्रह्माणी, रुद्राणी, तुम कमला रानी ।।
आगम निगम बखानी, तुम शिव पटरानी ।। ८ ।।

चौंसठ योगिनी गावत, नृत्य करत भैरु ।।
बाजत ताल मृदंगा, अरु बाजत डमरू ।। ९ ।।

तुम ही जग की माता, तुम ही हो भरता ।।
भक्तन की दुःख हरता, सुख सम्पत्ति करता ।। १० ।।

अष्ट भुजा अति शोभित, वरमुद्रा धारी ।।
मनवांछित फल पावत, सेवत नर नारी ।। ११ ।।

कंचन थाल विराजत, अगर कपूर बाती ।।
श्रीमालकेतु में राजत, कोटि रतन ज्योति ।। १२ ।।

मैया अम्बे जी की आरती, जो कोई नर गावे ।।
कहत शिवानन्द स्वामी, सुख - सम्पत्ति पावे ।। १३ ।।


वास्तु विजिटिंग के लिए अथवा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने या कुण्डली बनवाने के लिए हमें संपर्क करें ।।

हमारे यहाँ सत्यनारायण कथा से लेकर शतचंडी एवं लक्ष्मीनारायण महायज्ञ तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य, विद्वान् एवं संख्या में श्रेष्ठ ब्राह्मण हर समय आपके इच्छानुसार दक्षिणा पर उपलब्ध हैं ।।

अपने बच्चों को इंगलिश स्कूलों की पढ़ाई के उपरांत, वैदिक शिक्षा हेतु ट्यूशन के तौर पर, सप्ताह में तीन दिन, सिर्फ एक घंटा वैदिक धर्म की शिक्षा एवं धर्म संरक्षण हेतु हमारे यहाँ भेजें ।।

सम्पर्क करें - बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, शॉप नं.-19, बालाजी टाउनशिप, Opp- तिरुपति बालाजी मंदिर, आमली, सिलवासा से संपर्क करें ।।


Contact Mob No - 08690522111.
E-Mail :: balajivedvidyalaya@gmail.com

www.astroclasses.com
www.balajivedvidyalaya.blogspot.in
www.facebook.com/vedickarmkand

।। नारायण नारायण ।।

 

Related Posts

Contact Now