श्रीहनुमान जी की आरती ।।

श्रीहनुमान जी की आरती ।। Shri Hanuman Ji Ki Arati.

आरती कीजै हनुमान लला की ।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ।। आरती कीजै...

जाके बल से गिरिवर कापें ।
रोग दोष जाके निकट न झांके ।।
अंजनी पुत्र महा बलदाई ।
सन्तन के प्रभु सदा सहाई ।। आरती कीजै....

 

Related Posts

Contact Now