जीवन को स्वर्ग बना देती है वास्तु के अनुरूप की गयी घर की पेन्टिंग ।।

जीवन को स्वर्ग बना देती है वास्तु के अनुरूप की गयी घर की पेन्टिंग ।। Paintings, Optimal Growth And Home Vastu.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, अगर अपने घर में अलग-अलग कलर और चित्रकारी करी-करवायी जाये तो इससे हमारे घर को एक अलग पहचान मिलती है । अगर हम अपने घर को वास्तु के अनुसार सजाते हैं साधारण घर में भी चार चाँद लग जाता है ।।

पेंटिंग से हमारे घर के इंटीरियर में चार चाँद तो लगती ही है, साथ ही अगर वास्तु के अनुसार पेंटिंग का चयन करें तो घर में खुशीयाँ और समृद्धि भी लाती है । वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है ।।

मित्रों, ये बात पूर्ण सत्य है, कि अगर पेंटिंग के चयन सही हो तो ये काफी लाभदायक सिद्ध होती है । सर्वप्रथम हमारे द्वारा किये जाने वाले कलर का कोड देखना चाहिए । क्योंकि पेंटिंग में रंगों का एक अलग ही स्थान होता है ।।

हमारा जो लिविंग रूम होता है उसमें अगर हरियाली से युक्त, सूर्य की चमकती रोशनी और साफ नीले आसमान वाली पेंटिंग हो तो ये सर्वोत्तम मानी गयी है । ऐसी कलात्मक चीजें दक्षिण-पूर्व दिशाओं वाली दीवार के लिए बेहतर होती हैं ।।

मित्रों, इसमें ध्यान देना चाहिये कि पेंटिंग ऐसी हो जो ऊर्जा प्रदायिनी तथा प्रसन्नता देने वाली हो । नीले रंग की पेंटिंग उत्तर दिशा की दीवार पर बेहतर मानी जाती है । साथ ही हरे या उससे मिलते-जुलते रंग पूर्व दिशा की दीवार पर लगाने से घर में खुशहाली आती है ।।

लाल या संतरी रंग दक्षिण दिशा में हो तो सर्वोत्तम होता है । बच्चों के कमरे में पेंटिंग करवाते समय गुलाबी, जामुनी या नीले रंग का प्रयोग करना चाहिए । क्रीम या फिर सफेद रंग तो ऐसा होता है जिसका प्रयोग कहीं भी किया जा सकता है ।।

मित्रों, अगर गुलाबी रंग की बात करें तो इसका प्रयोग मास्टर बेडरूम अथवा नवविवाहित जोड़े के कमरे में करना उत्तम होता है । घर के ड्राइंग रूम या लॉबी में रनिंग वॉटर जैसे फाउंटेन अथवा समुद्र की पेंटिंग कहीं भी लगाई जा सकती है ।।

लेकिन बेडरूम में रनिंग वॉटर और समुद्र की पेंटिंग का प्रयोग नहीं करना चाहिए । इसमें दिशाओं का बहुत ही महत्व होता है । क्योंकि घर में सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह में दिशाओं का महत्वपूर्ण योगदान होता है ।।

मित्रों, इसीलिए पेंटिंग करवाते समय दिशाओं का भी खास ध्यान रखना चाहिए । पूर्व दिशा में उगते हुए सूर्य की पेंटिंग लगाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का अत्यधिक संचार होता है ऐसी मान्यता है ।।

इसी प्रकार हमारे वैदिक सनातन धर्म के जो धार्मिक चिह्न जैसे ॐकार अथवा स्वस्तिक आदि यदि उत्तर-पूर्व कमरे की पूर्व दीवार पर प्रतिष्ठित किया जाय तो अत्यन्त शुभ फलदायी होता है और इससे घर में सदैव सुख और शान्ति बनी रहती है ।।

मित्रों, घर के परिवार के सदस्यों की तस्वीर या पेंटिंग दक्षिण दिशा की दीवार पर ही होनी चाहिए । बच्चों की तस्वीरें, लैंडस्केप या हरे जंगल जैसी पेंटिंग पश्चिम दिशा में हो तो इसका घर में सकारात्मक प्रभाव पड़ता है ।।

घर में किसी की शादी नई-नई हुई हो तो उस नवविवाहित जोड़े की पेंटिंग कमरे की दक्षिण दिशा में लगानी चाहिए । घर के सुख-समृद्धि व बेहतर स्वास्थ्य के लिए दक्षिण की दीवार पर हरा रंग भी लगा सकते हैं ।।

मित्रों, कमरे की दक्षिण दीवार पर मैप लगाने से व्यापार में वृद्धि होती है । अगर आप भारत में व्यापार करते हैं तो भारत का मैप लगायें । अगर आप का व्यापार विदेशों तक फैला है तो आपको विश्व का मैप लगाना चाहिए ।।

उड़ते हुए पक्षियों की तस्वीरें आपके आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करती है । उगता हुआ सूरज सौभाग्य लेकर आता है । परन्तु ध्यान रखें कि पेंटिंग का गलत चयन आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव भी डाल सकता है ।।

मित्रों, अगर आपके घर में किसी को दिल की कोई बीमारी है अथवा कोई व्यक्ति डिप्रेशन का मरीज है तो घर में लाल रंग की पेंटिंग नहीं लगानी चाहिए । ऐसे में हरा रंग ऐसे मरीजों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है ।।

ध्यान रखें की घर में ऐसी पेंटिंग न हो जिसे देखने से दुख का आभास होता हो । ऐसी पेंटिंग घर में नकारात्मक ऊर्जा का संचार करती हैं । पेंटिंग के फायदे बहुत हैं परन्तु नकारात्मक बातों का ध्यान रखना भी जरूरी होता है ।।

भूतहा मकान, खंडहर, तालाब, कुएँ, हथियार, अस्त्र-शस्त्र, रुके हुए पानी, गहरे कष्टकारक रंग, आँखों को चुभने वाले रंगों की पेंटिंग, पशुओं की या युद्धादि की तस्वीरें घर में कभी भी कहीं भी नहीं लगानी चाहिए ।।

==============================================

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap+ Viber+Tango & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Website :: www.astroclasses.com
www.astroclassess.blogspot.com
www.facebook.com/astroclassess

।। नारायण नारायण ।।

 

Related Posts

Contact Now