शयन कक्ष में लगा हुआ पेंटिंग आपके वैवाहिक जीवन को तहस नहस कर सकता है ।।

शयन कक्ष में लगा हुआ पेंटिंग आपके वैवाहिक जीवन को तहस नहस कर सकता है ।। Bedroom, painting and marriage Life.

हैल्लो फ्रेंड्सzzzzz.

मित्रों, आपके बेडरुम में आपके बिस्तर के ठीक पीछे लगे हुए पेंटिंग की वजह से आपके वैवाहिक जीवन में उथल-पुथल हो सकता है । यदि आपके बेड के पीछे.....

आपके सिरहाने यदि कामुकता बढ़ाने वाली औरतों (हीरोइनों या नर्तकियों) की तस्वीरें या इस तरह की पेंटिंग, गृह स्वामी के जीवन में कई महिलाएं आकर वैवाहिक जीवन को तहस नहस कर देती हैं ।।

मित्रों, यदि अगर आपके घर में ऐसी कोई पेंटिंग लगी हो तो उसे तुरंत हटा दें । वास्तु शास्त्र के अनुसार शयन कक्ष में लगा हुआ इस तरह की मात्र एक पेंटिंग भी आपके वैवाहिक जीवन को तहस नहस कर सकता है ।।

किसी भी पेंटिंग या तस्वीर में एक ही बिस्तर में अनेक महिलाएं बैठी हुयी हों, यदि ऐसी तस्वीर या पेंटिंग किसी के भी शयन कक्ष में लगी हो तो यह पुरुष के जीवन में एक से अधिक महिलाओं के प्रवेश को दर्शाता है ।।

मित्रों, वास्तु शास्त्र के अनुसार बिस्तर के ठीक सामने लगा हुआ दर्पण भी विवाहित जोड़ों के बीच हमेशा शंका का कारण बनता है, जिससे वैवाहिक जीवन में दरार आने लगती है ।।

मुख्य शयन कक्ष में खिड़कियाँ छोटी-छोटी होनी चाहिए, इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए । दूसरी इस बात का भी ध्यान रखें कि खिड़कियाँ जो भी हों, पूरब या उत्तर में ही हों ।।

अगला लेख - अचानक जेल यात्रा रोकने के कुछ आसान टिप्स ।।

==============================================

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap+ Viber+Tango & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Website :: www.astroclasses.com
www.astroclassess.blogspot.com
www.facebook.com/astroclassess

।।। नारायण नारायण ।।।

 

Related Posts

Contact Now