राशी अनुसार होली के दिन किये जाने वाले कुछ विशिष्ट टोटके ।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

राशी अनुसार होली के दिन किये जाने वाले कुछ विशिष्ट टोटके एवं होलिका दाह मुहूर्त निर्णय 
Rashi Anusar Holi Ke Vishisht Totke And Holika Daah Muhurt Nirnay.


मित्रों, 12 मार्च 2017 दिन रविवार को होलिका दहन का मुहूर्त- 18:25 से 20:24 है । क्योंकि पूर्णिमा तिथि का आरंभ- 20:25 (11 मार्च) । एवं पूर्णिमा तिथि समाप्त- 20:24 (12 मार्च) । धुरड्डी "रंगवाली होली" - 13 मार्च दिन सोमवार ।।

=======================================

 
 
कुण्डली में कुल नौ ग्रह होते हैं... सूर्य, चन्द्रमा, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि, राहू और केतु...
 
जिनमें से चार को पापी ग्रह माना जाता है... राहू, केतु, मंगल और शनि..
 
और चार को सौम्य ग्रह माना जाता है... चन्द्रमा, बुध, गुरु और शुक्र...
 
परन्तु इन नवों ग्रहों में से एक क्रूर ग्रह माना जाता है... और वो है सूर्य..
 
============================================
 
हमारे वैदिक परंपरा में फाल्गुन पूर्णिमा का विशेष महत्त्व है, उस दिन गेहूं और जौ आदि की बालियों को होलिका में भून कर और एक-दूसरे को मिष्टान सहित बांट कर खाने-खिलाने को लाभप्रद बताया है ।।
 
पूजा-पाठ एवं साधना की दृष्टि से भी होली की रात्रि को अति महत्त्वपूर्ण बताया गया है । जिसमें संकल्प लेकर किए जाने वाले उपायों का लाभ अवश्य प्राप्त होता है । द्वादश राशि के जातक-जातिकाएं होली के दिन क्या उपाय करें कि उनके घर में खुशहाली आए, कारोबार में वृध्दि हो, धन लाभ हो और आस पास का सम्पूर्ण वातावरण मंगलमय हो ।।
 
होली के दिन सबसे पहली बात तो यह है कि रंग जरुर खेले इस दिन रंग खेलने से जीवन में खुशियों के रंग आते है और मनहूसियत दूर भाग जाती है । अगर आप घर से बाहर जा कर होली नहीं खेलना  चाहते हैं तो घर पर ही  होली खेलिये लेकिन खेलिये जरुर ।।
 
सुबह सर्वप्रथम भगवान को रंग चढ़ा कर ही होली खेलना शुरू करें । एक दिन पहले जब होली जलाई जाये तो उसमें भी अवश्य भाग लें । अगर किसी वजह से आप रात में होलीं जलाने के वक्त शामिल न हो पायें तो अगले दिन सुबह सूरज निकलने से पहले जलती हुई होली के निकट जाकर तीन परिक्रमा अवश्य करें ।।
 
होलिकग्नि में अलसी, मटर, चना, गेंहू कि बालियाँ और गन्ना इनमें से जो कुछ भी मिल जाये उसे होली की आग में जरुर डालें । परिवार के सभी सदस्यों के पैर के अंगूठे से लेकर हाथ को सिर से ऊपर पूरा ऊँचा करके कच्चा सूत नाप कर होली में डालें ।।
 
होलिकाग्नि की विभूति यानि भस्म घर जरुर लायें पुरुष इस भस्म को मस्तक पर और महिला अपने गले में लगाये, इससे एश्वर्य बढ़ता है । घर के बीच में एक चौकोर टुकड़ा साफ कर के उसमें कामदेव का पूजन करें ।।
 
होली के दिन दाम्पत्य भाव से अवश्य रहें । होली के दिन मन में किसी के प्रति शत्रुता का भाव न रखें, इससे वर्षपर्यन्त आप शत्रुओं पर विजयी होंगे । घर आने वाले मेहमानों को सौंफ और मिश्री जरुर खिलायें, इससे प्रेम भाव बढ़ता है ।।
 
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
1.मेष राशि : इस राशि के जातक-जातिकाओं को किसी भी प्रकार की कारोबारी, पारिवारिक या स्वास्थ्य सम्बंधी परेशानी हो या इसका हमेशा भय बना रहता हो साथ ही मेहनत का उचित फल नहीं मिलता हो । तो होलिका दहन के समय एक तांबे की कटोरी में चमेली का थोड़ा सा तेल, पांच लौंग और आंवले के पांच पत्ते और थोड़ा सा गुड़, यह सभी समान कटोरी में रख लें । मंगल गायत्री (ॐ अंगारकाय विद्महे शक्तिहस्ताये धीमहि । तन्नो भौमः प्रचोदयात् ।।) का 108 बार जप करते हुए समस्त सामग्री को होलिका दहन के समय होलिका में अर्पित कर देवें ।।
 
प्रात: काल सुबह होलिका दहन की थोड़ी सी राख लायें और उस राख को चमेली के तेल में मिला कर अपने शरीर पर मालिश करें । किसी भी तरह का रोग एवं कोई भी समस्या होगी उसका निवारण हो जायेगा । एक घंटे बाद हल्के गरम पानी से स्नान कर लें । व्यापार में मन्दी हेतु एक टोटका और करें, दूसरे दिन ब्रह्ममुर्हूत्त में जहाँ होली जली थी वहाँ की सात चुटकी राख, सात तांबे के सिक्के जिनमें छेद हों, एक लाल कपड़े में बांधकर अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर टांग दें या इस सामग्री को अपनी तिजोरी में रख लें और चमत्कार देखें ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
2.वृष राशि: अगर आपकी वृष राशि है और यदि आपको व्यापारिक समस्या हो, घर में सुख शांति न हो, लेन-देन के मामलों से परेशानी हो, स्वास्थ्य अनुकूल न रहता हो, कारोबार से लाभ न मिल रहता हो तो एक चाँदी की कटोरी ले लें और उसमें थोड़ा सा दूध, पांच चुटकी चावल डाल दें और साथ ही गुलमोहर के पांच पत्ते ले लें ।।
 
सभी सामग्रियों के साथ पांच चुटकी शक्कर लेकर इन सभी को होलिका दहन के समय शिव गायत्री (ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि । तन्नो रुद्रः प्रचोदयात् ।।) का 108 बार जप करके होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । किसी भी तरह कि आपकी व्यापारिक समस्या होगी उसका निवारण हो जाएगा ।।
 
साथ ही एक विशेष टोटका - होली के प्रात:काल सफेद कपड़े में 11 चुटकी होलिका दहन की राख लेकर आयें और उसके साथ एक चाँदी का सिक्का एक कपड़े में बांध लें । अब इन सामग्रीयों को अपनी तिजोरी में रख दें । धन एवं कारोबार की सारी समस्याओं का निवारण हो जायेगा ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
3.मिथुन राशि: अगर आपके घर में अनावश्यक कलह, व्यापार में घाटा, अपनों से विरोध, मानसिक अस्थिरता, इस प्रकार की समस्यायें हैं, तो इनके निवारण हेतु होलिका दहन के समय कांसे की कटोरी में 50 ग्राम हरे धनिया का रस, 108 साबूत मूंग के दाने, पीपल के पांच पत्ते, कोई भी हरे रंग की मिठाई इन सारी सामग्रियों को अपने हाथ में लेकर होलिका के सम्मुख खड़े होकर चंडी के नवार्ण मन्त्र (ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डाय विच्चे) का 108 बार जप करें ।।
 
जप पूर्ण होने के पश्चात इन सभी सामग्रीयों को होलिका दहन के समय होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । आपकी समस्त समस्याओं का निवारण हो जाएगा । साथ ही एक विशेष टोटका भी करें । होलिका दहन कि रात्रि के बाद सुबह में एक हरे कपड़े में 3 चुटकी होलिका दहन की राख, 3 हरे कलर का हकीक पत्थर बांधकर अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर बांध दें अथवा तिजोरी में रख दें । धन एवं कारोबार से सम्बन्धित आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जायेगा ।।
 
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
कर्क राशि: मानसिक अस्थिरता रहती हो, काम में रुचि न रहे, अपनों से धोखा मिले अथवा काम बदलने की प्रवृत्ति बढ़े तो ऐसी अवस्था में सभी समस्याओं के समाधान के लिए एक कटोरी में थोड़ा सा दही लें और उसमें पांच चुटकी चावल डाल लें । साथ ही अशोक के सात पत्ते और कुछ सफेद पेठा की मिठाई ले लें । इन सबको कटोरी में रख कर अपने हाथ में रख लें ।।
 
अब होलिकाग्नि के सम्मुख खड़े होकर महामृत्युंजय मन्त्र (ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् । उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॥) का 108 बार जप करके सभी सामग्रियों को होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । इससे आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । अगले दिन प्रात:काल सफेद कपड़े में होलिका दहन की राख 7 चुटकी, 7 गोमती चक्र बांधकर दुकान, व्यापारिक प्रतिष्ठान या घर के मुख्य द्वार पर लटका दें अथवा अपनी तिजोरी में रख दें । माता महालक्ष्मी की कृपा आपपर अवश्य होगी ।।
 
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
सिंह राशि: यदि कारोबार में सफलता नहीं मिल रही हो, स्वास्थ्य अनुकूल नहीं रहता हो अथवा प्रत्येक कार्यों में अकिंचन बाधायें आ रही हो तो होलिका दहन के दिन कांसे की कटोरी में थोड़ा सा घी लेकर उसमें पांच चुटकी गेहूं, पांच चुटकी देसी खाण्ड, अशोक के पांच पत्ते उस कटोरी में रखकर अपने हाथ में ले लें और सूर्य गायत्री (ॐ भास्कराय विद्महे, महातेजाय धीमहि । तन्नो सूर्य: प्रचोदयात् ।।) का 108 बार जप करें ।।
 
फिर होलिकाग्नि के सम्मुख खड़े होकर समस्त सामग्री को होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । आपकी सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा । अगले दिन प्रात:काल एक सुनहरे कपड़े में 5 चुटकी होलिका दहन की राख, ताम्र पत्र पर खुदा हुआ सूर्य यंत्र, पांच तांबे के पुराने सिक्के बांधकर जहाँ धन रखते हैं, यदि वहाँ रख दिया जाए तो व्यावसायिक प्रतिकूलताओं का शमन होगा । प्रतिदिन सूर्य यंत्र को घी का दिया एवं धूप अवश्य दिखाएं ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
कन्या राशि: किसी काम में स्थिरता न हो, दिए हुए पैसे वापस नहीं मिल रहे हों, अपनों की वजह से हमेशा परेशानियाँ झेलनी पड़ रही हो तथा कारोबारी या कानूनी समस्या हो तो ताम्बे की कटोरी में आंवले का थोड़ा सा तेल ले लें और पांच पत्ते नीम, पांच इलायची, नारियल से बनी मिठाई, इन सारी सामग्री को कटोरी में डाल कर अपने हाथ में रख लें और 108 बार बुध के मंत्र (ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः ।।) का जाप करते हुए सारी सामग्री को होलिकाग्नि में दहन कर दें ।।
 
सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । अगले दिन प्रात:काल एक हरे कपड़े में 11 चुटकी होलिका दहन की राख, 11 बीता हरा धागा, छेद वाले तांबे के सात सिक्के बांध कर दुकान, व्यापारिक प्रतिष्ठान आदि के मुख्य द्वार पर टांग दें या अपने तिजोरी में रख लें इससे आपके कारोबार में वृध्दि होगी एवं आपकी सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
तुला राशि: यदि आप व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिक समस्याओं से जूझ रहे हैं अथवा आपके हर कार्य में अनावश्यक बाधायें आ रही हो तो एक चाँदी की कटोरी में एक छोटी चम्मच से पाँच चम्मच गाय के दूध में बना हुआ खीर ले लें, पांच पत्ते शीशम के, गेंदा के पांच फूल लेकर इन सारी सामग्रियों को अपने हाथ में रख कर होलिकाग्नि के सम्मुख खड़े होकर शिव पञ्चाक्षरी मंत्र (ॐ नम: शिवाय) का 108 बार जप करें ।।
 
होलिका दहन के समय जप के उपरान्त समस्त सामग्री होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । अगले दिन प्रात:काल एक क्रीम कलर के कपड़े में 7 चुटकी होलिका दहन की राख, 7 कोड़ियां पीली धारी वाली बांधकर अपनी तिजोरी में रख दें । आपको अवश्य एवं अकल्पनीय लाभ होगा ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
वृश्चिक राशि: यदि आपको अपनी किसी भी कार्य कि सफलता के लिए बहुत जूझना पड़ रहा हो उसके बाद भी सफलता न मिल रही हो, कारोबार में लाभ नहीं हो रहा हो तो आप एक तांबे की कटोरी में चमेली का तेल डाल कर, पांच साबूत लाल मिर्च, एक बुंदी का लड्डू, पांच गूलर के पत्ते, इन समस्त सामग्री को अपने हाथ में लेकर हनुमान जी के इस मन्त्र (ॐ हं हनुमते नम: स्वाहा) का 108 बार जप करें ।।
 
जप के उपरान्त इन समस्त सामग्रीयों को होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । आपकी उपरोक्त सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । साथ ही एक प्रभावी टोटका करें अगले दिन एक लाल कपड़े में 17 चुटकी होलिकाग्नि की राख, 1 लाल मूंगा बांधकर अपनी तिजोरी में रख दें । आपकी कारोबार से सम्बंधित सारी समस्या का निवारण हो जायेगा ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
धनु राशि: यदि आप व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिक समस्याओं से जूझ रहे हों अथवा सभी कार्यों में अनावश्यक ही बाधायें आ रही हो तो आप एक पीतल की कटोरी में देसी गाय का थोड़ा सा घी, थोड़ा सा गुड़, पांच चुटकी चने की दाल, पांच आम के पत्ते डाल अपने हाथ में रख लें । फिर बृहस्पति गायत्री मंत्र (ऊं आंगिरसाय विद्महे दिव्यदेहाय धीमहि तन्नो जीव: प्रचोदयात्।।) का 108 बार जप करें ।।
 
उसके बाद इन समस्त सामग्रियों को होलिका दहन के समय होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । अगले दिन पीले कपड़े में 9 चुटकी होलिका दहन की राख एवं 11 पीली कोड़ियां बांधकर अपनी तिजोरी में रख लें । आपके कारोबार से सम्बन्धित सारी समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
मकर राशि: यदि आपको व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा हो अथवा अनावश्यक कार्य बाधा आ रही हो तो एक लोहे की कटोरी में सरसों का थोड़ा सा तेल लें, उसमें पांच चुटकी काला तिल, पांच बरगद के पत्ते, एक काला गुलाब जामुन, इन समस्त सामग्रियों को अपने हाथ में लेकर (ॐ शं शनैश्चराय नम:) इस मंत्र का 108 बार जप करें ।।
 
जप के उपरान्त इन समस्त सामग्रियों को हालिका दहन के समय होलिकाग्नि में समर्पित कर दें । आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । अगले दिन एक नीले कपड़े में 11 चुटकी होलिका की राख, 11 छोटी-छोटी लोहे की कील बांधकर घर या अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर लटका दें । सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
कुम्भ राशि: कुम्भ राशि वाले मित्रों, यदि आपके साथ भी ऐसा ही हो रहा हो कि आपको भी व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा हो अथवा हर कार्य में अनावश्यक बाधा आ रही हो तो आप एक स्टील की कटोरी में तिल का तेल, 108 दानें साबूत उड़द, कदम्ब वृक्ष के पांच पत्ते, पांच काली मिर्च, कोई भी काले रंग की एक मिठाई, इन समस्त सामग्री को अपने हाथ में रखें ।।
 
होलिकाग्नि के सम्मुख खड़े होकर मंगलकारी शनि मंत्र (ॐ शं शनैश्चराय नम: ।।) की 108 बार जप करके होलिका दहन के समय होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । साथ ही अगले दिन एक काले कपड़े में 11 चुटकी होलिका दहन की राख, 7 काजल की डिब्बी बांधकर कारोबारी प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर लटका दें । आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा ।।
============================================
होली पर्व पर राशि अनुसार विशेष उपाय​ :-
============================================
मीन राशि: मीन राशि के मित्रों, यदि व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिक समस्याओं से आपको भी जूझना पड़ रहा हो अथवा आपके सभी कार्यों में अप्रत्याशित बाधा आ रही हो तो आप एक कांसे की कटोरी में थोडा सा बादाम का तेल, 108 जोड़े चने की दाल, कोई भी थोड़ी सी पीली मिठाई, आम के पांच पत्ते, एक गांठ हल्दी, इन समस्त सामग्रीओं को अपने हाथ में लेकर होलिकाग्नि के सम्मुख खड़े हो जायें ।।
 
बृहस्पति के इस मन्त्र (ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं गुरवे नम:।।) मंत्र का 108 बार जप करके इन समस्त सामग्रियों को हालिका दहन के होलिकाग्नि को समर्पित कर दें । आपकी सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । अगले दिन सुबह एक पीले कपड़े में 7 चुटकी होलिकाग्नि राख, तांबे के 7 सिक्के और 11 कौड़ी बांधकर घर, दुकान, व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर लटका दें । आपकी सारी व्यावसायिक पीड़ाओं से छुटकारा मिल जायेगा ।।
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

Related Posts

Contact Now