कैसा हो आपका वास्तुसम्मत ऑफिस ?

कैसा हो आपका वास्तुसम्मत ऑफिस ?

अक्सर लोग मकान, दुकान या ऑफिस बनाते समय वास्तु के बारे में जानकारी लेते देखे जाते हैं । सवाल उठता है कि आखिर वास्तु है क्या और इसके अनुसार मकान, दुकान आदि नहीं बनाने पर क्या होता है । क्या यह कोई विज्ञान है या विज्ञान की कोई शाखा या फिर कोई अंधविश्वास ।।

प्राचीन मान्यताओं की मानें तो हर दिशा विशेष गुण लिए होती है और उन गुणों के मुताबिक इमारत बनाने से लाभ होता है । इन्हीं बातों को दूसरे शब्दों में लोग दिशाओं का विज्ञान मानते हैं और इसके अनुरूप निर्माण कार्य कराने का भरपूर यत्न करते हैं । वास्तु आजकल लोगों के जीवन में उतर चुका है, उनकी जरूरत बन गया है । लोगों की इसी जरूरत ने इसे एक बड़ा करियर बना दिया है, जिसमें संभावनाओं की भरमार है ।।

आपके ऑफिस में वास्तु सम्मत विचारों से कौन सा सामान कहाँ होना चाहिए ? इन सूत्रों को देखें ।।

१.वास्तु के दृष्टिकोण से एक अच्छे आफिस में बैठते हुए यह ध्यान रखना जरूरी हैं कि स्वामी की कुर्सी आफिस के दरवाजे के ठिक सामने ना हो ।।

२.कमर के पीछे ठोस दीवार होनी चाहिए । यह भी ध्यान रखे कि आफिस की कुर्सी पर बैठते समय आपका मुंह पूर्व या उत्तर दिशा में रहे ।।

३.आपका टेलिफोन आपके सीधे हाथ की तरफ, दक्षिण या पूर्व दिशा में रहें तथा कम्प्यूटर भी आग्नेय कोण में (सीधे हाथ की तरफ) होना चाहिए ।।

४.इसी प्रकार स्वागत कक्ष (रिसेप्शन) आग्नेय कोण मे होना चाहिए लेकिन स्वागतकर्ता (रिसेप्सनिष्ट) का मुंह उत्तर की ओर होना चाहिए जिससे गलतियां कम होगी ।।

५.आफिस में मंदिर (पूजा स्थल) ईशान कोण में होना चाहिए परन्तु इस स्थान पर एक गमला अवश्य रखें जिससे आफिस की शोभा बढ़ेगी । फाईल या किताबों की रेक वायव्य या पश्चिम में रखना हितकारी होगा ।।

हमारे यहाँ बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण उपलब्ध हैं ।।

वास्तु विजिटिंग के लिए अथवा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने या कुण्डली बनवाने के लिए:-

 संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, शॉप नं.-19, बालाजी टाउनशिप, तिरुपति बालाजी मंदिर, आमली, सिलवासा ।।

Contact No - 0260 - 6538111, Mob :: +91 - 8690522111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

।।। नारायण नारायण ।।।

 

Related Posts

Contact Now