अपने दुकान की बिक्री बढ़ाने हेतु करें यह टोटका ।।

जिस प्रकार से समुद्र मंथन के समय निकले विष को पीकर भगवान शिव ने सृष्टि की रक्षा की थी । उसी प्रकार ये वनस्पतियाँ प्रतिक्षण वायु प्रदुषण रूपी जहर पीकर हमें ऑक्सीजन प्रदान करते हैं । अपना शरीर देकर हमारे लिए दैनिक उपयोग और भवन निर्माण के लिए फर्नीचर के रूप में सुविधायें हमें प्रदान करते हैं ।।

0
528
Bikri Badhane Ka Totaka
Bikri Badhane Ka Totaka

अपने दुकान की बिक्री बढ़ाने हेतु करें यह टोटका ।। Bikri Badhane Ka Totaka.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, आज हम बात करेंगे एक बहुत ही प्रभावी और बेहतरीन टोटके के विषय में । जिस टोटके को करने के बाद आपके जीवन में अकल्पनीय परिवर्तन होगा । इसमें कोई संशय नहीं है । अगर आपका कोई दुकान है और उस दुकान में ग्राहकों की कमी है । चल नहीं रहा है और आप परेशान हैं तो आज के इस टोटके को आप निश्चिंत होकर करें ।।

ताकि इससे आपके दुकान में ग्राहकों की कमी जो है वह पूर्ण हो जाए । जिसके परिणाम स्वरुप आपके जीवन में धन का आगमन बढ़ जाए । ताकि आपकी जीवनशैली बेहतरीन हो सके । करना आपको कुछ भी विशेष नहीं है । बहुत ही सामान्य सा टोटका है । आप इसे बहुत ही आसानी से कर सकते हैं ।।

परंतु इसका परिणाम बहुत ही बेहतरीन आपको मिलेगा । लेकिन इस बात का पूरा पूरा ध्यान रखें, की टोटका टोटका होता है । इसलिये जब भी आप कोई टोटका करें तो उसके लिए उचित स्थान एवं उचित समय का चयन करें । ताकि आपको किसी भी प्रकार का कोई भी टोटका करते हुए किसी भी व्यक्ति की नजर आपपर ना पडे ।।

और ना ही कोई आपको टोके । क्योंकि जैसे ही कोई आपको टोक देगा या कोई देख भी लेगा तो उस टोटके का प्रभाव प्रभावहीन हो जाता है । उसका शुभ फल भी आपको प्राप्त नहीं होता है । इसलिए इस बात का भरपूर ध्यान रखें । तो चलिए आपको बताते हैं, कि आपको करना क्या है ?।।

आपको करना यह है, कि ग्यारह गोमती चक्र और तीन लघु नारियलों की यथाविधि पूजा करके उन्हें पीले वस्त्र में बांधकर बुधवार या शुक्रवार को अपने दरवाजे पर लटका दें । साथ ही हर पूर्णिमा को धूप दीप जलाकर दिखायें । यह क्रिया निष्ठापूर्वक नियमित रूप से करें । ग्राहकों की संख्या में वृद्धि होगी और आपके दुकान की बिक्री बढ़ जायेगी ।।

मित्रों, वनस्पतियों और वृक्षों को ईश्वर द्वारा प्रदत्त जीवन शक्ति माना गया है । यदि हमें कुछ मिनट वृक्षों से मिलने वाला ऑक्सीजन न मिले तो उस समय आज के विज्ञान की भौतिक उपलब्घियां भी हमारे लिए कुछ नहीं कर पाएंगी । वनस्पतियों को हमारे वैदिक सनातन व्यवस्था में साक्षात् शिव के सामान माना गया हैं ।।

जिस प्रकार से समुद्र मंथन के समय निकले विष को पीकर भगवान शिव ने सृष्टि की रक्षा की थी । उसी प्रकार ये वनस्पतियाँ प्रतिक्षण वायु प्रदुषण रूपी जहर पीकर हमें ऑक्सीजन प्रदान करते हैं । अपना शरीर देकर हमारे लिए दैनिक उपयोग और भवन निर्माण के लिए फर्नीचर के रूप में सुविधायें हमें प्रदान करते हैं । इसलिए हरसम्भव प्रयास करें कि अधिकाधिक वृक्ष उगायें एवं उनकी रक्षा तथा देखभाल करें । इससे भी हमारे जीवन का स्तर उपर उठता है ।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here