आपके घर का चूल्हा कहाँ रखें-वास्तु टिप्स।।

0
443

आपके घर का चूल्हा कहाँ रखें-वास्तु टिप्स।। Gas Chulha Kaha Rakhen.

Ghar Me Chulha Kaha Rakhen- Vastu tips.

मित्रों, किसी भी व्यक्ति के घर का चूल्हा देखकर उसकी संपन्नता-विपन्नता का पता लगाया जा सकता है। चूल्हे को वित्तीय स्थिति का प्रतीक माना गया है। इसलिए वास्तुवेत्ता इस ओर अधिक ध्यान देते हैं। उनके मतानुसार रसोईघर में चूल्हा, गैस स्टोव आदि को कहाँ रखा जाए और कहाँ नहीं, यह बात अधिक महत्त्व रखती है।।

चूल्हा चाहे लकड़ी-कोयले से जलने वाला हो या फिर गैस से जलने वाला गैस बर्नर। उसे रसोईघर में इस प्रकार रखा जाना चाहिए। जिससे खाना बनाने वाले का मुँह दरवाजे की ओर न पड़े। यह तो हो सकता है, कि रसोई में काम करने वाला व्यक्ति घर में प्रवेश करने वाले व्यक्तियों को देख सके। उनकी जानकारी रख सके। किंतु बाहरी व्यक्ति की नजर उस पर नहीं पड़नी चाहिए। प्रवेश द्वार के सामने रसोईकक्ष शुभ नहीं माना जाता है।।

चूल्हे या स्टोव, बर्नर को सिंक अथवा फ्रीज के बगल में नहीं रखना चाहिए। इसी तरह पानी की टंकी, कलश, घड़ा आदि भी चूल्हे के सामने नहीं होने चाहिए। इससे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। इसके वजह से परिवार में लड़ाई-झगड़ा भी होता रहता है। कारण आग और पानी परस्पर विरोधी तत्त्व हैं। इनमें आपस में बैर हैं।।

अतः रसोईघर में दोनों को आमने-सामने रखने पर पारिवारिक संघर्ष का बढ़ जाना स्वाभाविक है। रसोई में जलपात्र का उपयुक्त स्थान उत्तर-पूरब अर्थात ईशान कोण है। अतः इसे उसी दिशा में रखना चाहिए। गैस बर्नर, हीटर या स्टोव, चूल्हा आदि को रसोईघर के बीचों-बीच रखना अशुभ माना जाता है।।

इन्हें दीवार से तीन-चार इंच दूर हटाकर रखना चाहिए। जहाँ तक हो सके, चूल्हे को खिड़की के नीचे न रखा जाए। इससे खिड़की के अंदर बाहर से आने वाली धूल आदि के कारण भोजन की गुणवत्ता प्रभावित होती है।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

वापी ऑफिस:- शॉप नं.- 101/B, गोविन्दा कोम्प्लेक्स, सिलवासा-वापी मेन रोड़, चार रास्ता, वापी।।

वापी में सोमवार से शुक्रवार मिलने का समय: 10:30 AM 03:30 PM

वापी ऑफिस:- शनिवार एवं रविवार बंद है.

सिलवासा ऑफिस:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

प्रतिदिन सिलवासा में मिलने का समय: 05: PM 08:30 PM

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here