इस बार करवा चौथ पर बन रहा है विशेष योग।।

0
1407
Karwa Chauth 2021
Karwa Chauth 2021

इस बार करवा चौथ पर बन रहा है विशेष योग।। Karwa Chauth 2021.

मित्रों, इस बार करवा चौथ पर बन रहा है विशेष मंगलकारी योग, आइये आपलोगों को बताते हैं, पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा की विस्तृत विधि। (Karwa Chauth 2021) मूलतः यह करवाचौथ का व्रत कार्तिक मास की चतुर्थी को सुहागिनें अपने पति की लंबी आयु और सुख-समृद्धि के लिए रखती हैं। इस दिन महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं और चन्द्रमा देखकर व्रत का पारण करती हैं।।

(Karwa Chauth Vrat 2021) कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को सुहागिन स्त्रियाँ अपने पति की लंबी आयु और सुख-समृद्धि के लिए करवाचौथ का व्रत रखती है। इस दिन महिलाएं पूरा दिन निर्जला व्रत रखती हैं और चन्द्रमा को देखकर व्रत का पारण करती हैं। इस वर्ष यह करवा चौथ का व्रत 24 अक्टूबर 2021 दिन रविवार को पड़ रहा है।।

इस दिन सूर्योदय से पहले ही महिलाएं उठकर व्रत का संकल्प लेती हैं। इसके बाद पूरा दिन निर्जला व्रत रखती हैं। दिन के समय व्रत कथा और पूजन आदि किया जाता है। करवाचौथ के व्रत को करक चतुर्थी, दशरथ चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन महिलाएं सोलह ऋंगार करती हैं। साथ ही पूजा और व्रत कथा सुनने के बाद चन्द्रमा को देखकर व्रत पारण किया जाता है।।

इस दिन भगवान शिव, भगवान श्रीगणेश जी और स्वामी कार्तिकेय यानि स्कन्द के साथ बनी गौरी के चित्र की सभी उपचारों के साथ पूजा की जाती है। कहते हैं, कि इस व्रत को करने से जीवन में पति का साथ हमेशा बना रहता है। साथ ही, सौभाग्य की प्राप्ति और जीवन में सुख-शांति बनी रहती है। इस बार करवाचौथ के दिन एक विशेष योग बन रहा है। यह योग अत्यन्त ही मंगलकारी एवं शुभ योग माना जाता है। आइए जानते हैं इस मंगलकारी योग के बारे में और पूजा विधि।।

करवा चौथ का शुभ मुहूर्त।। Karwa Chauth 2021 Ka Shubh Muhurt.

चतुर्थी तिथि प्रारम्भ:- 24 अक्टूबर प्रातः 3 बजकर 2 मिनट से।।
चतुर्थी तिथि समाप्त:- 25 अक्टूबर सुबह 5 बजकर 43 मिनट पर।।
चन्द्रोदय समय: शाम 7 बजकर 51 मिनट पर होगा।।

करवा चौथ के दिन बनने वाले योग।। Karwa Chauth 2021 Ka Vishisht Yog.

इस चतुर्थी की तिथि को संकष्टी चतुर्थी भी कहा जाता है। संकष्टी चतुर्थी का पर्व गणेश जी को समर्पित है। इस दिन गणेश भगवान की भी विशेष रूप से पूजा की जाती है। इस बार 24 अक्टूबर करवाचौथ के दिन रात 11 बजकर 35 मिनट तक वरीयान योग रहेगा। ये योग मंगलदायक कार्यों में सफलता प्रदान करता है। वहीं देर रात 1 बजकर 2 मिनट तक रोहिणी नक्षत्र रहेगा। इसलिए यह योग विशेष रूप से मंगलकारी बन जाता है।।

करवाचौथ पूजा विधि।। Karwa Chauth 2021 Pooja Vidhi.

करवा चौथ पूजा करने के लिए घर के उत्तर-पूर्व दिशा के कोने को अच्छे से साफ कर लें। लकड़ी की चौकी बिछाकर उस पर भगवान शिवजी, मां गौरी और गणेश जी की तस्वीर रखें। आप अपने हाथों से मिट्टी की प्रतिमा भी बनाकर रख सकते हैं। उस प्रतिमा की प्राण-प्रतिष्ठा किसी ब्राह्मण से करवाकर पूजन करवाएँ। साथ ही एक जल से भरा कलश स्थापित कर उसमें थोड़े-से अक्षत डालें। इसके बाद कलश पर रोली, अक्षत का टीका लगाएं और गर्दन पर मौली बांधें।।

तीन जगह चार पूड़ी और 4 लड्डू लें, अब एक हिस्से को कलश के ऊपर, दूसरे को मिट्टी या चीनी के करवे पर और तीसरे हिस्से को पूजा के समय महिलाएं अपने साड़ी या चुनरी के पल्ले में बांध कर रख लें। अब करवाचौथ माता के सामने घी का दीपक जलाकर कथा पढ़ें। पूजा करने के बाद साड़ी के पल्ले और करवे पर रखे प्रसाद को बेटे या अपने पति को खिला दें। वहीं, कलश पर रखे प्रसाद को गाय को खिला दें।।

कलश को पूजा स्थल पर ही रहने दें।. चन्द्रोदय के समय इसी कलश के जल से चन्द्रमा को अर्घ्य दें। और घर में जो कुछ भी बना हो, उसका भोग चंद्रमा को लगाएं। इसके बाद पति के हाथों से जल ग्रहण करके व्रत का पारण करें।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें। इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के सामने, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: [email protected] 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here