सर्वमनोकामना सिद्ध करने वाला – सिद्ध श्रीयन्त्र ।।

0
493
Manokamana Purn Karanewala Shri Yantra
Manokamana Purn Karanewala Shri Yantra

सर्वमनोकामना सिद्ध करने वाला – सिद्ध श्रीयन्त्र ।। Manokamana Purn Karanewala Shri Yantra.

हैल्लो फ्रेंड्सzzz,

श्री विद्या की साधना से सिद्ध किया श्री यन्त्र आज ही अपने घर और ऑफिस तथा अपने दुकान में स्थापित करने के लिए हमें ऑर्डर दें ।।

श्री विद्या से संबंधित तंत्र ब्रह्माण्ड का सर्वश्रेष्ठ तंत्र है । जिसकी साधना ऐसे योग्य साधकों और शिष्यों को प्राप्त होती है जो समस्त तंत्र साधनाओं को आत्मसात कर चुके हों । श्री विद्या की साधना का सबसे प्रमुख साधन है श्री यंत्र ।।

श्री यंत्र प्रमुख रूप से ऐश्वर्य तथा समृद्धि प्रदान करने वाली महाविद्या त्रिपुरसुंदरी महालक्ष्मी का सिद्ध यंत्र है । यह यंत्र सही अर्थों में यंत्रराज है, इस यंत्र को स्थापित करने का तात्पर्य श्री को अपने संपूर्ण ऐश्वर्य के साथ आमंत्रित करना होता है ।।

Manokamana Purn Karanewala Shri Yantra

जो साधक श्री यंत्र के माध्यम से त्रिपुरसुंदरी महालक्ष्मी की साधना के लिए प्रयासरत होता है, उसके एक हाथ में सभी प्रकार के भोग होते हैं, तथा दूसरे हाथ में पूर्ण मोक्ष होता है । आशय यह कि श्री यंत्र का साधक समस्त प्रकार के भोगों का उपभोग करता हुआ अंत में मोक्ष को प्राप्त होता है ।।

इस प्रकार यह एकमात्र ऐसी साधना है जो एक साथ भोग तथा मोक्ष दोनों ही प्रदान करती है, इसलिए प्रत्येक साधक इस साधना को प्राप्त करने के लिए सतत प्रयत्नशील रहता है । स्फटिक का बना हुआ श्री यंत्र अतिशीघ्र सफलता प्रदान करता है ।।

इस यंत्र की निर्मलता के समान ही साधक का जीवन भी सभी प्रकार की मलिनताओं से परे हो जाता है । स्फटिक को हीरे का उपरत्न कहा जाता है । स्फटिक को कांचनमणि, बिल्लोर, बर्फ का पत्थर तथा अंग्रेजी में रॉक क्रिस्टल कहा जाता है । यह एक पारदर्शी रत्न है । स्फटिक बर्फ के पहाड़ों पर बर्फ के नीचे टुकड़े के रूप में पाया जाता है ।।

यह बर्फ के समान पारदर्शी और सफेद होता है । यह मणि के समान ही होता है । इसलिए स्फटिक के श्रीयंत्र को बहुत पवित्र माना जाता है ।।

Sarva Manokamana Siddhi - Shri Yantra

स्फटिक श्रीयंत्र स्फटिक का बना होने के कारण इस पर जब सफेद प्रकाश पड़ता है तो ये उस प्रकाश को परावर्तित कर इन्द्र धनुष के रंगों के रूप में परावर्तित कर देता है । यदि आप चाहते है कि आपकी जिन्दगी भी खुशी और सकारात्मक ऊर्जा के रंगों से भर जाए तो घर में स्फटिक श्रीयंत्र स्थापित करें ।।

यह यंत्र जिस घर में रहता है, उस घर से हर तरह की नकारात्मक ऊर्जा को दूर करता है । श्री यंत्र शांति, समृद्धि, सद्भाव, और अच्छी किस्मत में प्रवेश करने के लिए मुख्य मार्ग माना जाना जाता है । यह यंत्र ब्रम्हा, विष्णु, महेश यानि त्रिमूर्ति का स्वरुप भी माना जाता है ।।

यह विविध वास्तु दोषों के निराकरण के लिए श्रेष्ठतम उपाय है । श्री यंत्र पर ध्यान लगाने से मानसिक क्षमता में वृद्धि होती है । उच्च यौगिक दशा में यह सहस्रार चक्र के भेदन में सहायक माना गया है । कार्यस्थल पर इसका नित्य पूजन व्यापार में विकास देता है । घर पर इसका नित्य पूजन करने से संपूर्ण दांपत्य सुख प्राप्त होता है ।।

पूरे विधि विधान से इसका पूजन यदि प्रत्येक दीपावली की रात्रि को संपन्न कर लिया जाय तो उस घर में साल भर किसी प्रकार की कमी नही होती है ।।

Dhanteras Ki Pooja

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Video’s.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.

E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com

।।। नारायण नारायण ।।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here