चन्द्रमा से प्रभावित महिलाओं के लक्षण एवं उसका सरल उपाय ।।

0
934
Moon Se Prabhavit Mahilayen
Moon Se Prabhavit Mahilayen

चन्द्रमा  से प्रभावित महिलाओं के लक्षण एवं उसका सरल उपाय ।। Moon Se Prabhavit Mahilayen.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, वैसे तो आकाश मंडल के सभी ग्रह धरती के सभी प्राणियों पर एक जैसा ही प्रभाव डालते हैं । लेकिन सभी प्राणियों का रहन-सहन और प्रवृत्ति या प्रकृत्ति एक दूसरे से भिन्न होती है । इसलिए ग्रहों का प्रभाव कुछ कम-ज्यादा तो होता ही है ।।

आज हम सिर्फ महिलाओं पर सभी ग्रहों के प्रभाव का ही जिक्र करेंगे । क्यूंकि कई बार महिलाएं असामान्य व्यवहार करती है तो उन्हें भी और उनके साथ वालों को भी बहुत परेशानी झेलना पड़ता है । ऐसा लगता है, उसे किसी ने कुछ सिखा दिया है या फिर बहाने बना रही है । जबकि कई बार ग्रहों की अच्छी या बुरी स्थिति भी कारण होती है ।।

किसी महिला की जन्म-कुंडली में विभिन्न ग्रहों के साथ युति का भी अलग-अलग प्रभाव होता है । अगर हम चंद्रमा की बात करें तो किसी भी व्यक्ति की कुंडली में चंद्रमा एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है । स्त्री की कुंडली में इसका महत्व और भी अधिक माना गया है ।।

चन्द्र राशि से स्त्री का स्वभाव, प्रकृति, गुण-अवगुण आदि निर्धारित किये जाते हैं । चंद्रमा माता, मन, मस्तिष्क, बुद्धिमता, स्वभाव, जननेन्द्रियों, प्रजनन सम्बन्धी रोगों, गर्भाशय अंडाशय, मूत्र-संस्थान छाती और स्तन कारक होता है । इसके साथ ही स्त्री के मासिक-धर्म, गर्भाधान एवं प्रजनन आदि महत्वपूर्ण क्षेत्र भी इसी के अधिकार क्षेत्र में आते हैं ।।

Moon Se Prabhavit Mahilayen

चंद्रमा मन का कारक होता है, इसका निर्बल और दूषित होना मन एवं मति को भ्रमित कर किसी भी इंसान को पागल तक बना सकता है । कुंडली में चंद्रमा की कैसी स्थिति होगी यह किसी भी महिला के आचरण-व्यवहार से जाना जा सकता है ।।

अच्छे चंद्रमा की स्थिति में कोई भी महिला खुश-मिजाज़ होती है । चेहरे पर चंद्रमा की तरह ही उजाला होता है । यहाँ गोरे रंग की बात नहीं है क्यूँकि चंद्रमा का विभिन्न ग्रहों के साथ युति का अलग-अलग प्रभाव हो सकता है ।।

कुंडली का अच्छा चंद्रमा किसी भी महिला को सुहृदय, कल्पनाशील और एक सटीक विचार धारा युक्त बनाता है । अच्छा चन्द्र महिला को धार्मिक और जनसेवी भी बनाता है । लेकिन किसी महिला की कुंडली में यही चन्द्र नीच का हो जाये या किसी पापी ग्रह के साथ या अमावस्या का जन्म को या फिर क्षीण हो तो महिला सदैव भ्रमित ही रहती है ।।

हर पल एक भय सा बना रहता है या उसको लगता रहता है, कि कोई उसका पीछा कर रहा है । कोई भूत-प्रेत का साया उसको परेशान कर रहा है । कमजोर या नीच का चन्द्र किसी भी महिला को भीड़ भरे स्थानों से दूर रहने को उकसाता है और धीरे-धीरे एकांतवासी बना देता है ।।

ऐसी महिला को एक चिंता सी सताती रहती है जैसे कोई अनहोनी होने वाली है । बात-बात पर रोना या हिस्टीरिया जैसी बीमारी से भी ग्रसित हो सकती है । बहुत चुप रहने लगती है या फिर बहुत ज्यादा बोलने लगती है । ऐसे में ना केवल घर-परिवार के बल्कि आस-पड़ोस का माहौल भी खराब होता है ।।

क्योंकि वह हर किसी को संदेह की नजरों से देखने लगती है । साथ ही बार-बार हाथ धोना अपने बिस्तर पर किसी को हाथ नहीं लगाने देना । कई बार बहुत देर तक नहाना, यह सब कमजोर चंद्रमा की निशानी होता है ।।

ऐसे में जन्म कुंडली का किसी अच्छे विद्वान् से विश्लेषण करवाकर चंद्रमा के निमित्त उपाय करना-करवाना चाहिए । अगर किसी महिला के पास कुंडली नहीं हो तो यह सामान्य उपाय करके इस तरह की बीमारियों-परेशानियों से बच सकती है ।।

जैसे भगवान शिव की आराधना करना, अच्छा मधुर संगीत एवं भजन आदि सुनना । कमरे में उजाला करके रखना, हल्के रंगों का प्रयोग करना । पानी में केवड़े का एसेंस डालकर पीना ।।

सोमवार को एक गिलास दूध और एक मुट्ठी चावल का दान किसी मंदिर में करना । घर में बड़ी उम्र की महिलाओं का प्रतिदिन चरण स्पर्श करते हुए उनका आशीर्वाद लेना । अगर हो सके तो चांदी के गिलास में पानी और दूध पीना चाहिये ।।

छोटी वाली उंगली में चांदी का छल्ला पहने लेकिन यह उपाय तब और ज्यादा असरदार होगा जब कुंडली दिखाई गई हो । किसी जानकार ज्योतिषी के द्वारा उपाय बताया गया हो । छोटे बच्चों के साथ बैठने से भी चंद्रमा अनुकूल होता है । सबसे बड़ी बात यह है, कि दृढ़ निश्चय ही किसी इंसान को भ्रम की स्थिति से बाहर निकाल सकता है ।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे   YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं –   Watch My YouTube Channel.

ज्योतिष से सम्बन्धित अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख तथा टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे   ब्लॉग एवं   वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com

एस्ट्रोलॉजी थिंक्स:   वेबसाईट:    ब्लॉग:     फेसबुक:    ट्विटर:

।।। नारायण नारायण ।।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here