पुरानी झाड़ू किस दिन और कहाँ फेकें।।

0
1512
Purani Jhadu Kahan Feke
Purani Jhadu Kahan Feke

पुरानी झाड़ू किस दिन और कहाँ फेकें।। Purani Jhadu Kahan Feke.

मित्रों, वैदिक सनातन धर्म में झाडू को मां लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। किसी भी दिन झाडू खरीदकर लाना आपको भारी मुसीबत डाल सकता है। झाड़ू एक ऐसा घरेलू सामान है जिससे घर की साफ-सफाई की जाती है। यह घास, फाइबर, प्लास्टिक या सींख की बनी हो सकती है। इसका इस्तेमाल अक्सर हर घर में किया जाता है।।

इस्तेमाल करते करते झाड़ू अक्सर खराब हो जाती है। इसके बाद इसे बदलकर बाजार से नई झाड़ू भी लाई जाती है। पर क्या आप जानते हैं, कि वास्तु शास्त्र के अनुसार, झाड़ू खरीदने के भी कई नियम होते हैं। यूं ही किसी भी दिन झाड़ू को खरीद लाना आपके जीवन पर बुरा असर डाल सकता है।।

वैदिक सनातन धर्म में झाड़ू मां लक्ष्मी का प्रतीक मानी जाती है। इसलिए पुरानी या खराब झाड़ू को गुरुवार और शुक्रवार के दिन तो घर से बिल्कुल भी न निकालें। गुरुवार भगवान श्रीमन्नारायण का और शुक्रवार मां लक्ष्मी का वार होता है। कहा जाता है, कि इन दिनों में घर से झाड़ू निकालने से भगवान रुष्ठ हो जाते हैं और उस घर से चले जाते हैं।।

झाड़ू पर पैर पड़ जाना या इसे लांघना भी अशुभ माना जाता है। झाड़ू खरीदने के लिए मंगलवार और शनिवार का दिन सबसे उत्तम माना जाता है। ऐसा करने से घर की आर्थिक स्थिति में सुधार आता है। साथ ही घर में संपन्नता भी आती है। शास्त्रों में यह भी कहा गया है, कि वार के साथ ही पक्ष का ध्यान रखना भी जरूरी होता है। झाड़ू कृष्ण पक्ष में ही खरीदी जाए तो अच्छा रहता है। मान्यता है, कि इसे घर के ऐसे स्थान पर रखना चाहिए जहां किसी की भी नजर न जाए। साथ ही इसे बिस्तर के नीचे तो बिल्कुल भी नहीं रखना चाहिए। झाड़ू लगाने के समय की बात करें तो सूर्यास्त के बाद इसे भूलकर भी प्रयोग नहीं करना चाहिए।।

Purani Jhadu Kahan Feke

पुरानी झाड़ू किस दिन और कहाँ फेकें।। When and where to throw the old Jhadu.

मित्रों, घर में रखी झाड़ू धन-धान्य और सुख-शांति का प्रतीक होती हैं। माना जाता हैं, कि यदि आप अपने घर में झाड़ू सही ढंग से रखते हैं। किसी शुभ दिन में ही उसे खरीदकर घर लाते है तो माता देवी लक्ष्मी की कृपा आप पर सदैव ही बनी रहती है। साथ ही आपका घर हमेशा धन धन्य से भरा रहता हैं। क्योंकि शास्त्रों में झाड़ू को माता लक्ष्मीजी का प्रतीक माना जाता हैं। इसीलिए झाड़ू का सही ढंग से प्रयोग बहुत ही जरूरी बताया गया है। आज हम आपको पुरानी झाड़ू किस दिन और कहाँ फेकें वो सभी बाते बताने जा रहे है। जिनका जानना आपके लिए और आपके घर के लिए बेहद ही जरूरी है।।

मित्रों, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार घर की पुरानी झाड़ू को आपको शनिवार, अमावस्या, होलिका दहन के बाद या ग्रहण के बाद अपने घर से निकाल देना चाहिए। साथ ही झाड़ू को हमेशा ऐसी जगह फेंकना चाहिए जहां कोई अन्य व्यक्ति उसके ऊपर पैर ना रख सके। यदि आप इनमें से किसी भी दिन पुरानी या टूटी झाड़ू को घर से बाहर निकालते हैं तो ऐसा माना जाता हैं, कि घर में व्याप्त दरिद्रता और नकारात्मक शक्तियाँ भी उस झाड़ू के साथ ही आपके घर से दूर चली जाती हैं। साथ ही घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है।।

Purani Jhadu Kahan Feke

झाड़ू को माता महालक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। जिससे हम घर की अलक्ष्मी या दरिद्रता को घर से दूर करते है। इसीलिए ऐसा माना जाता है, कि जिनके घरों में साफ़ सफाई रहती है वहां का वातावरण पॉजिटिव एनर्जी से भरा होता है। इसीलिए हमें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की कभी भी अपने घर से झाड़ू को एकादशी, गुरुवार, शुक्रवार और लक्ष्मी पूजन के दिन घर से बाहर नहीं फेकना चाहिए। क्योकि यदि आप इस दिन झाड़ू को अपने घर से निकालते हैं तो माता लक्ष्मी भी घर से चली जाती हैं। इसके साथ ही घर में नकारात्मक शक्तियों का वास होने लगता है।।

शास्त्रों के अनुसार जिस घर में झाड़ू का अपमान होता है उस घर में कभी भी देवी लक्ष्मी जी की कृपा नहीं बरसती है। इसीलिए सदैव इस बात का ध्यान रखेँ की झाड़ू को कभी भी भूलकर भी पैर ना लगाए और न ही उसे लाँघें । शास्त्रों में झाड़ू का इतना बड़ा महत्व है, कि शीतलता प्रदान करने वाली माता शीतला भी अपने हाथो में झाड़ू लिए रहती है। इसीलिए कोशिश करें की झाड़ू का अपमान ना होवे।।

टूटी या बिखरी झाड़ू को घर में ना रखे।। Do not keep a broken or scattered Jhadu in the house.

मित्रों, वास्तु शास्त्र के अनुसार टूटी या बिखरी हुई झाड़ू घर में रखने से नकारात्मकता बढ़ने लगती है। इसीलिए कभी भी टूटी या बिखरी हुई झाड़ू को घर में नहीं रखना चाहिए। जब भी झाड़ू बहुत पुरानी या टूटने लगे तो उसे तुरंत किसी शुभ दिन पर बदल देना चाहिए। माना जाता है, कि टूटी हुई झाड़ू के नकारात्मक प्रभाव से घर में परेशानियाँ बढ़ने लगती है। साथ ही घर में दरिद्रता का वास होने लगता है।।

नई झाड़ू कब खरीदे

नई झाड़ू कब खरीदे? when to buy a new Jhadu.

मित्रों, घर के लिए नई झाड़ू खरीदने का दिन बेहद मायने रखता है। इसलिए ये ध्यान रखें की नई झाड़ू कृष्ण पक्ष में खरीदना शुभ होता है। जबकि शुक्ल पक्ष में खरीदी गयी झाड़ू दुर्भाग्य का कारण बनती है। मंगलवार शनिवार, रविवार और अमावस्या का दिन झाड़ू खरीदने के लिए सबसे शुभ होते है। कहा जाता है, कि शनिवार या अमावस्या के दिन घर में नई झाड़ू लाने से घर हर तरह से दोषमुक्त हो जाता है। साथ ही घर में माँ लक्ष्मी जी का वास होता है। घर के ईशान कोण अर्थात उत्तर पूर्व दिशा में भूलकर भी झाड़ू नहीं रखना चाहिए।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.
इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.
वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।
किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।
सिलवासा ऑफिस:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के ठीक सामने, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।
प्रतिदिन सिलवासा में मिलने का समय:
10:30 AM to 01:30 PM And 05: PM 08:30 PM
WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: [email protected] 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here