सास बहू के झगड़े बंद हो जायेंगे इस टोटके से ।।

प्रतिदिन स्नान के बाद एक तांबे के लोटे में जल भरें । उस लोटे को पहले अपनी माता के हाथ से तथा बाद में पत्नी के हाथ से स्पर्श कराकर तुलसी के पौधे में उस जल को अर्पित कर दें । ध्यान रखें कि यह उपाय रविवार को नहीं करना है । आपकी समस्या समाप्त हो जाएगी ।।

0
726
Vivah Ka Totka
Vivah Ka Totka

सास बहू के झगड़े बंद हो जायेंगे इस टोटके से ।। Sas-Bahu Ke Jhagade Ka Totaka.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, ज्यादातर औरतें अपनी सास से बैर रखती हैं । कभी-कभी तो ऐसा होता है, कि सास ही ऐसी मिलती है कि अपने बहु से बैर रखती है । अर्थात् कुल मिलाकर औरत ही औरत की शत्रु बन जाती हैं । ऐसी स्थिति में बेचारा पुरुष तो त्रिशंकु बन जाता है और किसकी तरफ जाए यह सोचकर परेशान हो जाता है ।।

लेकिन इस प्रकार की दुविधा से बचने का उपाय आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ । इस परिस्थति से बचने के लिए आप आज का यह सहज और सरल टोटका अपनाकर देखिये । आपकी समस्या का सहजता से समाधान न हो जाय तो फिर मुझे बताना ।।

अब आपको करना यह है, कि किसी भी बृहस्पतिवार के दिन एक शुद्ध भोजपत्र पर “गायत्री मंत्र” (शुद्धता पूर्वक) चंदन से लिखें । उसके बाद उन दोनों भोजपत्रों को 2 ताबीज में भरकर पीले कपड़े में बांधकर एक अपनी माता के और एक पत्नी के दांयी भुजा पर बांध दें । आपकी समस्या समाप्त हो जाएगी ।।

दूसरा एक और उपाय बताता हूँ । प्रतिदिन स्नान के बाद एक तांबे के लोटे में जल भरें । उस लोटे को पहले अपनी माता के हाथ से तथा बाद में पत्नी के हाथ से स्पर्श कराकर तुलसी के पौधे में उस जल को अर्पित कर दें । ध्यान रखें कि यह उपाय रविवार को नहीं करना है । आपकी समस्या समाप्त हो जाएगी ।।

तीसरा उपाय यह है, कि प्रतिदिन सुबह-दोपहर या शाम को जब भी समय मिले जब भी घर में भोजन में रोटी बने उसमें से एक रोटी ले लें और उसमें गुड़ और चने बिच में रखकर उसे लपेटकर शायंकाल टहने के बहाने निकलें और उस रोटी को अपनी माता एवं पत्नी के हाथ से स्पर्श कराकर किसी गाय को खिला दें । आपकी समस्या समाप्त हो जाएगी ।।

चौथा उपाय यह करें, कि प्रतिदिन दो तुलसी के पत्ते पानी से धोकर पूजा में रखें और 21 बार “गायत्री मंत्र” पढकर एक पत्ता अपनी माता को तथा एक अपनी पत्नी को खिला दें । आपकी समस्या समाप्त हो जाएगी । पाचवां उपाय अगर सास बहू की कलह से अत्यधिक परेशान हैं तो प्रतिदिन सुबह अपने मटके में जहां पीने का पानी हो, उमसें 2 बूंद गंगाजल गायत्री मंत्र पढ़ते हुए डाल दें । ध्यान रखें कि वही पाणी पीने के लिए प्रयुक्त हो आपकी समस्या समाप्त हो जाएगी ।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here