ॐ अथ शिवप्रातःस्मरणस्तोत्रम्।।

0
1159
Shiva Pratah Smaran Stotram
Shiva Pratah Smaran Stotram

ॐ अथ शिवप्रातःस्मरणस्तोत्रम्।। Shiva Pratah Smaran Stotram.

प्रातः स्मरामि भवभीतिहरं सुरेशं ।
गङ्गाधरं वृषभवाहनमम्बिकेशम् ।।
खट्ट्वङ्गशूलवरदाभयहस्तमीशं ।
संसाररोगहरमौषधमद्वितीयम् ।।१।।

प्रातर्नमामि गिरिशं गिरिजार्धदेहं ।
सर्गस्थितिप्रलयकारणमादिदेवम् ।।
विश्वेश्वरं विजितविश्वमनोभिरामं ।
संसाररोगहरमौषधमद्वितीयम् ।।२।।

प्रातर्भजामि शिवमेकमनन्तमाद्यं ।
वेदान्तवेद्यमनघं पुरूषं महान्तम् ।।
नामादिभेदरहितं षड्भावशून्यं ।
संसाररोगहरमौषधमद्वितीयम् ।।३।।

प्रातः समुत्थाय शिवम् विचिंत्य ।
श्लोकत्रयं येअनुदिनम पठन्ति ।।
ते दुःखजातं बहुजन्मसंचितं ।
हित्वा पदं यान्ति तदेव शम्भो..।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here